Traffictail

World Best Business Opportunity in Network Marketing
laminate brands in India
IT Companies in Madurai

देशभर में लागू हुए तीन नए आपराधिक कानूनों का मुख्यमंत्री  ने उत्तराखंड में किया औपचारिक शुभारंभ,देश को नई दिशा दिखाने का कार्य करेंगे नए कानून: सीएम धामी।

देशभर में लागू हुए तीन नए आपराधिक कानूनों का मुख्यमंत्री  ने उत्तराखंड में किया औपचारिक शुभारंभ,देश को नई दिशा दिखाने का कार्य करेंगे नए कानून: सीएम धामी।

नए कानून न्याय की अवधारणा को करेंगे मजबूत : मुख्यमंत्री।

अनुशासन, निष्पक्षता और न्याय हमारे देश की पुरानी परंपरा।

देश को नई दिशा दिखाने का कार्य करेंगे नए कानून: सीएम धामी।

देहरादून ( उत्तराखंड) मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को पुलिस मुख्यालय देहरादून में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए भारतीय न्याय व्यवस्था में लागू हुए तीन नए आपराधिक कानूनों का राज्य में औपचारिक शुभारंभ किया। उल्लेखनीय है कि संपूर्ण देश में आज से तीन नए अपराधिक कानून – भारतीय न्याय संहिता 2023, भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता 2023 और भारतीय साक्ष्य अधिनियम 2023″ लागू हो गए हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने तीन नए कानूनों पर आधारित I.O एप्लीकेशन का शुभारंभ एवं विवेचक पुलिसकर्मियों को टैबलेट वितरित किए।

यह ख़बर भी पढ़िये।👉👇🙏💐

देहरादून- SDRF के जवान राजेंद्र सिंह नाथ ने रचा कीर्तिमान, नार्थ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी🏔️माउंट देनाली (6190 मीटर है) को किया फतह।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भारतीय न्याय व्यवस्था में तीन नए कानून के लागू होने पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज भारतीय न्याय व्यवस्था के लिए ऐतिहासिक दिन है। अंग्रेजों के जमाने से चले आ रहे विभिन्न पुराने और गैरजरूरी कानूनों को हटाकर वर्तमान परिस्थिति के हिसाब से नए आपराधिक कानून लागू हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं गृहमंत्री श्री अमित शाह के नेतृत्व में नए कानून न्याय की अवधारणा को मजबूत करेंगे और न्याय मिलने की प्रक्रिया को अधिक सरल और सुलभ बनाने में पुलिस और न्यायालयों की वृहद स्तर पर मदद करेंगे।

यह ख़बर भी पढ़िये।👉👇🙏💐

मुख्यमंत्री धामी ने 170 अभ्यर्थियों को प्रदान किये नियुक्ति पत्र, 11 विभागों में 165 सहायक अभियंताओं और ऑडिट विभाग में 05 कनिष्ठ सहायकों को दी गई नियुक्ति।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुशासन, निष्पक्षता और न्याय हमारे देश की पुरानी परंपरा रही है। ये तीनों कानून देश के हर नागरिक की स्वतंत्रता, मानव अधिकार और सबके साथ समान व्यवहार को सुनिश्चित करेंगे। ये कानून गुलामी की मानसिकता को मिटाने और औपनिवेशिक कानूनों से मुक्ति दिलाने की मोदी सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। नए कानून आजादी के अमृत महोत्सव के बाद के कालखंड में देश को एक नई दिशा दिखाने का कार्य करेगा। अब हमारी न्याय प्रणाली पूरी तरह से स्वदेशी होगी जो भारत द्वारा, भारत के लिए और भारतीय संसद द्वारा बनाए गए कानूनों के अनुसार संचालित होगी। नए कानून नागरिकों के अधिकारों की रक्षा के साथ कानून व्यवस्था को भी और अधिक सुदृढ़ करेगी।

यह ख़बर भी पढ़िये।👉👇🙏💐

राज्य सरकार ने खोला नौकरियों का पिटारा, शिक्षा विभाग में समग्र शिक्षा के तहत बीआरपी ( BRP) और सीआरपी ( CRP) के 955पदों की भर्ती हुई शुरू, जानें योग्यता और आवेदन प्रक्रिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नए कानूनों में ई- एफ.आई.आर की सुविधा शुरू की गई है। अब न्यायालय पीड़ित को सुनवाई का अवसर दिए बिना मुकदमा वापस लेने की सहमति नहीं देगा। नए कानूनों में टेक्नोलॉजी के प्रयोग और फॉरेंसिंक विज्ञान को बढ़ावा दिया गया है। नई न्याय प्रणाली सभी को पारदर्शी और त्वरित न्याय देने के लिए अत्याधुनिक तकनीकों को बढ़ावा देने का कार्य करेगी। नए कानूनों में ऑनलाइन व्यवस्था पर भी बल दिया गया है। नए कानूनों में सबकुछ स्पष्ठता और सरलीकरण के साथ समाहित किया गया है।

यह ख़बर भी पढ़िये।👉👇🙏💐

सेल्फी के शौक ने ले ली महिला फार्मासिस्ट की जान, खाई में गिरने से हुई मौत -एसडीआरएफ और स्थानीय ग्रामीणों ने का शव खाई से निकाला, घटना के बाद से पति बेहोश।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार हमारे कानून आतंकवाद, संगठित अपराधों और आर्थिक अपराधों को पूरी तरह परिभाषित करेंगे। नए कानूनों में मॉब लिंचिंग को स्पष्ट रूप से परिभाषित किया गया है, भगोड़ों की गैरमौजूदगी में भी मुकदमा चलाने के लिए स्पष्ट प्रावधान किए गए हैं। साथ ही बहुत छोटे अपराधों के लिये सजा के रूप में सामुदायिक सेवा की शुरुआत एक क्रांतिकारी कदम है।

यह ख़बर भी पढ़िये।👉👇🙏💐

थाना बनबसा और एसओजी चम्पावत के संयुक्त अभियान में ( 840 ग्राम ) 85 लाख की स्मैक, दो मोटरसाइकिल समेत चार तस्करों को किया गिरफ्तार।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार उत्तराखण्ड की जनता को न्याय दिलाने एवं उनके अधिकारों के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है। नए कानूनों को लागू किये जाने हेतु राज्य सरकार ने पृथक रूप से 20 करोड़ रूपए की धनराशि का प्राविधान किया है। उन्होंने कहा आगे भी इन कानूनों के क्रियान्वयन कर्ता विभागों को इसके लिए राज्य सरकार से आवश्यक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा निश्चित ही तीनों कानूनों को उत्तराखंड पुलिस पूरी प्रतिबद्धता के साथ लागू करेगी।

कार्यक्रम के दौरान विभिन्न जनपदों से अधिवक्ताओं, पुलिस अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों ने भी तीन नए कानूनों पर विस्तार से जानकारी दी।

यह ख़बर भी पढ़िये।👉👇🙏💐

ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में 106 वें लायंस इंटरनेशनल कन्वेंशन में दुनिया भर के देशों ने किया प्रतिभाग, अंतर्राष्ट्रीय पटल पर छायी उत्तराखंड की टोपी।

इस अवसर पर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, पुलिस महानिदेशक अभिनव कुमार, सचिव शैलेश बगौली, सचिव गृह दिलीप जावलकर, निदेशक अभियोजन डॉ पीवीके प्रसाद, अपर पुलिस महानिदेशक डा. वी मुरुगेशन,  अमित सिन्हा, अपर महानिदेशक कानून व्यवस्था एपी अंशुमन, आईजी स्तर के अधिकारियों के अलावा वर्चुअल माध्यम से विभिन्न जिलों के एसएसपी, एसपी अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

यह ख़बर भी पढ़िये।👉👇🙏💐

छह दिन से लापता नाबालिग लड़कियां मिली, दोनों को पुलिस ने मुजफ्फरनगर से किया बरामद, SSP ने बड़ी साज़िश का किया खुलासा,साजिश में शामिल समुदाय विशेष 5 लोगों को किया गिरफ़्तार ..

 

uttarakhandlive24
Author: uttarakhandlive24

Harrish H Mehraa

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[democracy id="1"]

खटीमा-बाड़ पीड़ित के चेक वितरण के दौरान भाजपा और कांग्रेस में हुई भिड़ंत,भाजपा नेता की तहरीर पर कांग्रेसी नेता पर हुआ मुकदमा दर्ज,कांग्रेसियों ने दी भाजपा कार्यकर्ताओं खिलाफ दी तहरीर।

मुख्यमंत्री धामी के निर्देश पर खटीमा में आपदा पीड़ितों को  प्रशासन ने 10 हजार परिवारों को 5 करोड़ 2 लाख 50 हजार रुपए तात्कालिक सहायता राशि की वितरित,नियम विरुद्ध लिये गये चैक को लेकर प्रशासन हुआ सख्त,होगी जांच।