Traffictail

World Best Business Opportunity in Network Marketing
laminate brands in India
IT Companies in Madurai

हरिद्वार-नैनीताल से युवाओं पर दांव,धर्मनगरी हरिद्वार से हरीश रावत के बेटे वीरेंद्र रावत को टिकट, नैनीताल में प्रकाश जोशी पर कांग्रेस ने खेला दांव।

हरिद्वार-नैनीताल से युवाओं पर दांव,धर्मनगरी हरिद्वार से हरीश रावत के बेटे वीरेंद्र रावत को टिकट, नैनीताल में प्रकाश जोशी पर कांग्रेस ने खेला दांव।

कांग्रेस में हरिद्वार और नैनीताल-ऊधमसिंह नगर लोकसभा सीटों पर प्रत्याशियों का इंतजार चौंकाने वाले नामों के साथ खत्म हो गया। शनिवार देर रात कांग्रेस ने भाजपा के मंझे हुए वरिष्ठ प्रत्याशियों के मुकाबले युवा चेहरों के नाम घोषित कर दिए। हरिद्वार में हरीश रावत के बेटे विरेंद्र रावत तो नैनीताल सीट पर प्रकाश जोशी को प्रत्याशी घोषित किया गया है।

कांग्रेस ने उत्तराखंड की कुल पांच में से तीन संसदीय सीटों गढ़वाल, टिहरी और अल्मोड़ा के लिए गत 12 मार्च को प्रत्याशियों की घोषणा की थी। हरिद्वार और नैनीताल-ऊधमसिंहनगर की सीटों पर प्रत्याशियों के नाम पर सहमति नहीं बनने से पेच फंस गया था। पार्टी हाईकमान के हस्तक्षेप के बाद 11 दिन बाद यह मामला सुलझ सका।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

देहरादून के नामी विद्यालय की पूर्व अध्यापिका व उसके पति के साथ कोबरा गैंग की विदेशी महिला ड्रग पैडलर के साथ पुलिस ने किया गिरफ्तार।

नैनीताल-ऊधमसिंहनगर सीट पर टिकट की दौड़ में बाजी आखिरकार पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी के हाथ लगी। इस सीट पर दावेदारों की दौड़ में पूर्व सांसद महेंद्र सिंह पाल भी आगे माने जा रहे थे। बाद में प्रत्याशियों के संबंध में अंतिम निर्णय के लिए गठित उच्च स्तरीय समिति ने राष्ट्रीय नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श के बाद प्रकाश जोशी पर भरोसा जताया।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की पैरवी काम आई और पार्टी ने उनकी पसंद के अनुसार उनके पुत्र को चुनाव मैदान में उतार दिया। वहीं, नैनीताल-ऊधमसिंहनगर सीट पर पार्टी ने निष्ठावान और पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की टीम का हिस्सा रहे प्रकाश जोशी सभी दावेदारों पर भारी पड़ गए।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

शातिर युवती के झांसे में फंसा उत्तराखंड पुलिस का दरोगा, बस कंडक्टर प्रेमी को पिता बता ऐसे चलाया शातिर दिमाग, दरोगा की तहरीर पर हुआ मुकदमा दर्ज

प्रत्याशियों के चयन विशेष रूप से हरिद्वार को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत अपनी बात मनवाने में सफल रहे। वह अपने पुत्र वीरेंद्र रावत के लिए टिकट की मांग कर रहे थे, जबकि पार्टी के वरिष्ठ नेता वर्तमान राजनीतिक चुनौती को देखते हुए हरीश रावत को मजबूत प्रत्याशी बताते रहे।

नैनीताल-ऊधमसिंहनगर सीट पर टिकट की दौड़ में बाजी आखिरकार पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी के हाथ लगी। इस सीट पर दावेदारों की दौड़ में पूर्व सांसद महेंद्र सिंह पाल भी आगे माने जा रहे थे। बाद में प्रत्याशियों के संबंध में अंतिम निर्णय के लिए गठित उच्च स्तरीय समिति ने राष्ट्रीय नेतृत्व के साथ विचार-विमर्श के बाद प्रकाश जोशी पर भरोसा जताया।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

लोकसभा चुनाव को लेकर पुलिस महकमे ने कस ली कमर, सीमाओं पर पुलिस का पहरा, सांय-सांय करते हुए दौड़ा ले जा रहे थे कार, पुलिस ने रोक कर देखा तो उड़ गये होश।

भाजपा पांचों लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी घोषित करने के बाद नामांकन व प्रचार-प्रसार में जुटी है लेकिन कांग्रेस में अल्मोड़ा, टिहरी व गढ़वाल के प्रत्याशी घोषित होने के बाद हरिद्वार और नैनीताल सीट पर लगातार इंतजार और कयासबाजी का दौर जारी था। शनिवार देर रात पार्टी आलाकमान ने जैसे ही प्रत्याशियों के नामों का ऐलान किया, तो सब चौंक गए। पूर्व मुख्यमंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता त्रिवेंद्र सिंह रावत के मुकाबले में कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के बेटे विरेंद्र रावत को प्रत्याशी घोषित किया है। विरेंद्र के राजनैतिक कॅरियर का यह पहला चुनाव है।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

दुखद खबर-संदिग्ध परिस्थितियों में पुलिस कांस्टेबल की गोली लगने से हुई मौत, पुलिस कर्मियों में मचा हड़कंप।पुलिस के आलाधिकारी पहुचे घटना स्थल।

नैनीताल-ऊधमसिंह नगर लोकसभा सीट पर केंद्रीय राज्यमंत्री अजय भट्ट के मुकाबले में कांग्रेस ने युवा प्रकाश जोशी को मैदान में उतारा है। प्रकाश इससे पहले वर्ष 2012 और 2017 का विधानसभा चुनाव कालाढूंगी से हार चुके हैं। संगठन में कई जिम्मेदारियां संभाल चुके हैं। कांग्रेस में हरिद्वार लोकसभा सीट पर पूर्व सीएम व पूर्व केंद्रीय मंत्री हरीश रावत का नाम चर्चाओं में था जबकि नैनीताल सीट पर पूर्व सांसद महेंद्रपाल सिंह का नाम चर्चाओं में था। लेकिन कांग्रेस के इस कदम से सभी चौंक गए हैं। माना जा रहा है कि सर्वाधिक 20 लाख से ऊपर मतदाताओं वाली इन सीटों पर अब मुकाबला भाजपा के वरिष्ठ नेताओं और कांग्रेस के युवा चेहरों के बीच होने जा रहा है।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

शादीशुदा प्रेमी जोड़े ने खाया जहर,ईलाज के दौरान प्रेमिका की हुई मौत,महिला के पति ने प्रेमी की पत्नी व एक अन्य महिला पर कराया मुकदमा दर्ज….???????? पढ़िये खबर

हरीश रावत का लंबा अनुभव राजनीति में रहा है। उन्होंने पहले 2022 के विधानसभा चुनाव में हरिद्वार ग्रामीण सीट से बेटी अनुपमा रावत को टिकट दिलाया था, जो कि विधायक है। अब लोकसभा चुनाव में खुद मैदान में उतरने के बजाए बेटे विरेंद्र को टिकट दिला दिया है। राजनीतिक गलियारों में ये कयास लगाए जा रहे हैं कि हरीश रावत ने अब अप्रत्यक्ष रूप से अपनी राजनैतिक पारी समाप्ति की घोषणा कर दी है क्योंकि आगामी विधानसभा चुनाव 2027 में होंगे जबकि लोकसभा चुनाव अब 2029 में होंगे और हरीश रावत 75 साल की उम्र पूरी कर चुके हैं।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

खटीमा-राणा थारू परिषद द्वारा आयोजित होली महोत्सव में सीएम धामी ने किया प्रतिभाग ,रिंकू राणा के गीत पर नेपाल, यूपी और स्थानीय होल्यारों के साथ थिरके मुख्यमंत्री धामी

विरोध के बावजूद हरीश रावत की ही चली
यहां ये बात भी अहम है कि अंदरखाने दूसरे गुट के भारी विरोध के बावजूद हरीश रावत अपने बेटे विरेंद्र को टिकट दिलाने में कामयाब रहे हैं। इससे पहले उनकी पत्नी रेणुका रावत हरिद्वार लोकसभा सीट से चुनाव हार चुकी हैं। पार्टी के कई पदाधिकारी अभी भी इस बात पर अमादा हैं कि विरेंद्र के बजाए हरीश रावत को खुद मैदान में उतरना चाहिए।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

खटीमा-विदेश भेजने के नाम पर धोखाधड़ी, इंग्लैंड का वीजा न मिलने पर युवक को थमाया था आस्ट्रेलिया का नकली वीजा,आरोपी पिता-पुत्री के खिलाफ मुकदमा हुआ दर्ज।

uttarakhandlive24
Author: uttarakhandlive24

Harrish H Mehraa

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[democracy id="1"]

खटीमा-बाड़ पीड़ित के चेक वितरण के दौरान भाजपा और कांग्रेस में हुई भिड़ंत,भाजपा नेता की तहरीर पर कांग्रेसी नेता पर हुआ मुकदमा दर्ज,कांग्रेसियों ने दी भाजपा कार्यकर्ताओं खिलाफ दी तहरीर।

मुख्यमंत्री धामी के निर्देश पर खटीमा में आपदा पीड़ितों को  प्रशासन ने 10 हजार परिवारों को 5 करोड़ 2 लाख 50 हजार रुपए तात्कालिक सहायता राशि की वितरित,नियम विरुद्ध लिये गये चैक को लेकर प्रशासन हुआ सख्त,होगी जांच।