Traffictail

World Best Business Opportunity in Network Marketing
laminate brands in India
IT Companies in Madurai

सीमान्त खटीमा में उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ लोक आस्था के महापर्व छठ का हुआ समापन।

सीमान्त खटीमा में उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ लोक आस्था के महापर्व छठ का हुआ समापन।

उदीयमान भगवान भास्कर को अर्घ्य देने के साथ लोक आस्था के महापर्व छठ का विधिवत समापन हो गया है। आज तड़के सुबह व्रतियों ने उदीयमान सूर्य को ‘दूसरा अर्घ्य’ दिया। छठ महापर्व  में सुबह के अर्घ्य की विशेष महत्ता है।

खटीमा ( उधम सिंह नगर ) सीमान्त क्षेत्र खटीमा में भगवान भास्कर को सुबह में अर्घ्य देने के साथ लोक आस्था के महापर्व छठ का समापन हो गया है। अहले सुबह छठ व्रती घाट पर पहुंचे और भगवान भास्कर को अर्घ्य दिया। कई जगहों पर पूरी रात घाट पर रहने की व्यवस्था की गई थी।

इस दौरान श्रद्धालुओं की भीड़ घाटों पर देखी गई। सुबह में घाट पर रोशनी की व्यवस्था की गई थी। सूर्योपासना का चार दिवसीय महापर्व छठ पूरे खटीमा  में शांतिपूर्ण तरीके से सुबह के अर्घ्य के साथ संपन्न हुआ। रविवार की शाम और सोमवार की सुबह व्रतियों ने सीमान्त खटीमा के भिन्न छठ घाटों पर भगवान सूर्य को अर्घ्य दिया।

छठ महापर्व को लेकर पूरे खटीमा क्षेत्र में भक्ति का माहौल बना रहा। चारों ओर छठ मैया के गीत गूंजते रहे। खटीमा क्षेत्र के शारदा नदी झनकइयां ,बाइस पुल, मेलाघाट, ऊँची बगुलिया, बड़ी बगुलिया छठ घाट में नदी के तट के अलावा लोगों ने अपने घरों और तालाबों में भी अर्घ्य दिया।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

सूर्योपासना????का लोकपर्व 17 को नहाए-खाए से शुरू होगा छठ महापर्व,???????? पढ़िये आखिर क्यों मनाते हैं छठ ?

चार दिनों तक चला ये पर्व
छठ का यह पर्व 17 नवंबर 2023 नहाय खाय से शुरू हुआ था और आज 20 नवंबर 2023 को उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने की विधि के साथ पूर्ण रूप से संपन्न हुआ। चार दिनों के चलने वाले इस पर्व में व्रती महिलाओं ने खरना के बाद से व्रत का संकल्प लिया था। यह व्रत कुल 36 घंटे का होता है। बता दें कि, यह व्रत निर्जला रखा जाता है। आज इस व्रत का पारण कर महिलाओं ने छठ के प्रसाद के साथ अन्न-जल को ग्रहण किया।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

मुख्यमंत्री धामी ने काली एवं गोरी नदी के संगम पर आयोजित 110 वर्ष पुराने जौलजीबी मेले का किया शुभारंभ,प्रधानमंत्री की पिथौरागढ़ की यात्रा से इस क्षेत्र को मिली नई पहचान – मुख्यमंत्री

व्रत रखने के पीछे की मान्यता
छठ पूजा का व्रत घर की महिलाएं रखती हैं। यह व्रत छठी मैया और सूर्य भगवान को समर्पित होता है। मान्यता है कि छठी मैया निसंतान दांपतियों को संतान का वर्दान देती हैं और घर की सुख-समृद्धी का भी आशीर्वाद देती है। इस वजह से महिलाएं छठ पर्व का व्रत रखती है। जिससे उनकी संतान को दीर्घायु की प्राप्ति हो और जिनकी संतान नहीं हैं, उन विवाहित दंपतियों को संतान का सुख मिले। इस व्रत को पूरे नियम के साथ रखना चाहिए तभी इसका फल प्राप्त होता है।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

उधम सिंह नगर जनपद में पहली बार होगा “किताब कौतिक”  1,2 और 3 दिसंबर को नानकमत्ता में आयोजन,20 स्कूलों में कैरियर काउंसलिंग के साथ होगी 3 दिवसीय “नानकमत्ता किताब कौथिग” की शुरुआत।

पूर्व संध्या में पूर्वांचल सेवा समिति खटीमा द्वारा संजय रेलवे पार्क में चार दिवसीय छठ महापर्व का भव्य आयोजन किया गया।जिसमे विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों के अलावा बाहर से आये भजन गायक आदित्य सिंह , प्रयागराज, प्रिया सोनी प्रयागराज,प्रिया त्रिपाठी प्रयागराज,ओम शिवम पाण्डेय वाराणसी,कपिल भार्गव बनबसा भजन गायकों द्वारा भजनों के माध्यम से अपनी प्रस्तुति देकर उपस्थित जनसमूह को भक्तिमय कर आनन्दित किया।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

हाईकोर्ट में खटीमा निवासी शैलेन्द्र वर्मा की याचिका पर खटीमा के एक निजी स्कूल द्वारा अभिभावकों के उत्पीड़न मामले में CBSE सचिव को दिए ये आदेश।

इस दौरान भुवन कापड़ी विधायक खटीमा ,गोपाल सिंह राना विधायक,नानकमत्ता, पूर्व शिक्षा मंत्री विधायक अरविंद पाण्डेय , नगर पालिका अध्यक्ष सोनी राना ,अरुण सक्सेना,दिनेश अग्रवाल, वरिष्ठ पत्रकार एम ड़ी आनन्द हॉस्पिटल राजेश छाबड़ा ,शक्तिवर्धन सिंह, डॉ विनय प्रताप सिंह  वरिष्ठ चिकित्साधिकारी नागरिक चिकित्सालय खटीमा  पूर्वांचल सेवा समिति खटीमा के अध्यक्ष सुनील रैदानी, महामंत्री अंकित पाण्डेय, कोषाध्यक्ष कमला सिंह, संरक्षक जगदीश गोयल, प्रहलाद यादव, संजय सिद्धार्थ, अजय सिंह , नरेन्द्र सिंह ,सुरेन्द्र सिंह , विनोद कुमार, उदय प्रताप सिंह, विश्वनाथ यादव , रत्नाकर पाण्डेय,आदि उपस्थित रहे।और कार्यक्रम का संचालन डॉ महेन्द्र प्रताप पाण्डेय ने किया।

छठ महापर्व पर आज सुबह पूरे विधिवत तरीके से उगते हुए भगवान भास्कर को अर्घ्य दिया गया. इसी के साथ आज छठ महापर्व का समापन हो गया।

यह ख़बर भी पढ़िये।????????????????

उत्तराखंड: पत्नी साक्षी बेटी संग पैतृक गांव ल्वाली जैंती पहुंचे टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी,मंदिर में की पूजा अर्चना, एक झलक पाने को उमड़े गांव के लोग…।

 

 

uttarakhandlive24
Author: uttarakhandlive24

Harrish H Mehraa

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[democracy id="1"]